Select Page

Category: Poetry

Sukoon hai tu – Love Poem

रूह को जो मिले वो सुकून है तू,
इस ज़िस्म में बसने वाली महक है तू ।
तोड़ ना पाए कोई वो रिश्ता है हमारा,
जिस्मों का नहीं दिलों का प्यार है पुराना ।

Read More

मेरा लेखन।

मेरा दिमाग है उथल-पुथल,करोड़ों विचारों से लवालव,कभी एक कौंधता,कभी दूसरा टपकता,ये सिलसिला लगातार चलता,आखिर मैं एक नतीजे पे पहुंचता,अपनी कलम उठा लेता,

Read More

Zindagi K Rang

रंग ही रंग है जिंदगी में
कहीं खुशियों के कहीं दुख के,
कहीं प्यार के कहीं तकरार के,
कुछ जाने से पहचाने से
कुछ नए सुनहरे सुहाने से,

Read More

Zikrr ❤ 💔

तुम्हारे लफ़्ज़ों में ज़िक्र क्यों ‘तुम्हारा’ है, ”हमारा” नहीं,
तुम्हारे प्यार में ज़िक्र क्यों ‘तुम्हारा’ है, “हमारा” नहीं ।
दूर जाओगे तो अलग हम होंगे,

Read More
Loading

We are Social

Shower Some Likes

Love To Listen

Thank you for visiting our blog. Feel free to leave your heart prints.

Share Your Thoughts!

Pin It on Pinterest