Select Page

Category: Guest Stories

Zikrr ❤ 💔

तुम्हारे लफ़्ज़ों में ज़िक्र क्यों ‘तुम्हारा’ है, ”हमारा” नहीं,
तुम्हारे प्यार में ज़िक्र क्यों ‘तुम्हारा’ है, “हमारा” नहीं ।
दूर जाओगे तो अलग हम होंगे,

Read More

Alfaaz

आज फिर कुछ शब्दों से मुलाकात हुई,
घेर लिया चंद अल्फाजों ने मुझे;
कह रहे थे कुछ धीरे से,
आज शब्द भी थे कुछ भीगे से;
रास्ता थोड़ा मुश्किल था,
आंधी थी, तूफान था,

Read More
Loading




We are Social

Shower Some Likes

Love To Listen

Thank you for visiting our blog. Feel free to leave your heart prints.

Share Your Thoughts!